Moral Stories In Hindi

Moral Story In Hindi - Moral Kahani

नैतिक कहानी (Moral Story) ऐसी कहानियां होती है, जिनमें नैतिकता के साथ-साथ उनके पीछे संदेश हमेशा शक्तिशाली होते हैं। एक नैतिक कहानी आपको यह सिखाता है कि आपको एक बेहतर इंसान कैसे बनना है। नैतिक कहानी आपके नैतिक चरित्र को मजबूत बनाती है। यहां सीख देने वाली कहानियों (Moral Story) का एक बड़ा संग्रह है। इसे एक बार जरूर पढ़े।

नैतिक कहानी - Naitik Kahaniya

जीवन एक गूँज है मुहँ से निकले शब्द
गलत सलाहकार क्या सुख, क्या दुःख
दूसरों की भावनाएँ समझना लालच करना बुरी बात है
एक बुद्धिमान व्यक्ति एक घुड़सवार
एक महात्मा की बात सबकी जीत के बारे में सोचें
एक सेर मक्खन विल्मा रुडोल्फ़ की कहानी
विश्वसनीयता बच्चे ने दी माँ-बाप को एक सीख
यह विश्व अच्छे मनुष्यों से भी भरा हुआ है गुस्सा
एक प्रेरक कथा-जाे सोच बदल दे अपनी तुलना दूसरों से न करें
झूठ जब सच जैसा लगे, धोखा न खाएं मांगो मत
कौन अच्छा, कौन बुरा? किसान और दो घड़ों की कहानी
सूझबूझ से सुलझा लें समस्या शब्दों का प्रभाव
चाचा ने ऐसे दी सीख सेल्फी का चक्कर
पति का महत्व इंसान की कीमत
ईमानदारी की कमाई का महत्व सच्ची सेवा क्या होती है
दान उत्तम गति है संतुलित जीवन का राज
बुद्धिमानी से युवक ने राजा की कृपा पाई एक नैतिक कहानी
खाली दिमाग शैतान का घर निन्यानवे का फेर
समय प्रबंधन का महत्व सीखा सैनिकों को दी उचित सीख
सदारायता से दुर्जनता को जीता सच्चाई पर कायम रहा
आचरण में बदलाव कर जीता दिल विनम्रता से हारा अंहकार
मानवता की सेवा जो बनें, आदर्श बनें
भोजन के दौरान मौन रहने का महत्व परम धर्म के निर्वहन की सीख
जीवन जीने का अर्थ दृढ़ मनोबल से जीत ली हारी हुई जंग
राजा ने दी क्षष्टाचारियों को सजा गणिकाओं की बदली जीवन की राह
मितव्ययिता का पाठ हिटलर के आगे नहीं झुका वैज्ञानिक
आपसी विवाद मिलकर सुलझाएं कवि ने बताया साहित्य का महत्त्व
आत्मिक शांति समाज में चेतना फैलाने का लिया निर्णय
कुप्रवृत्तियों का त्याग व्यावहारिक शिक्षा
कर्तव्यनिष्ठा संघर्ष
मूर्ख से हुए बुद्धिमान पति को पराजित घोषित किया
बुद्धिबल से पाई विजय ममता को दी वरीयता
गुरू से मिली महत्त्वपूर्ण सीख स्त्री सम्मान की रक्षा
जरूरतमंदों की सहायता शिक्षा विकास का आधार
संबंधों की मधुरता घर का भेदी सेनापति
स्वामी जी से मिली अनूठी सीख डकैत झुक गया गुरुदेव के चरणों में
जगाया जल संरक्षण का बोध अचूक निशानेबाज हारा तीनों दांव
बालक गोविंद की विरक्ति मानव सेवा बनाती है महान्
नास्तिक की दिशा बदली कर्ज लेकर वादा निभाया
सदारायता से बने जन नेता संकल्प से नहीं डिगी अंग्रेज महिला
आइस्टीन की मानवीयता ऋषि ने बताया प्रकृति का महत्त्व
मूर्ख राजा को बुद्धिमान ऋषि की मार बेटे ने जब पिता को क्षमा नहीं किया
मां के शब्दों नें भरा जोड़ा मन के दीप का महत्त्व
दृष्टिहीन साधु ने सबको सही पहचाना मंगलसूत्र
कर्म को दी वरीयता प्रश्नों का समाधान
खोई खुशियां अनुचित को ग्रंथ से हटाया
आम तोड़ना भारी पड़ा गुरू की आज्ञा
क्षमा मांगकर तुलवाया गार्ड ने सामान अवसर पाते ही मुखर हो उठी प्रतिभा
रूपए लौटाकर बढ़ई ने पाई हांति पुत्र के खिलाफ फैसला
दान के असली मायने आत्मप्रशंसा
राजपुरोहित उपहास के पात्र
ज्ञान का लोक विस्तार गंवाई बकरी
साधना के मायने संयम का परिचय
आत्मविजयी शिक्षा के मायने
शिष्य ने सिखाया निरभिमान रहना संगठन के आगे राजा को झुकना पड़ा
समय पर काम करने का महत्त्व राजगुरू ने जाना पापकर्म का मूल
मां की आज्ञा से अपनी प्रतिज्ञा की भंग गुरु जी ने क्षमा की शिष्यों की भूल
निरूतर हुआ सिकंदर अर्जुन के तीर हुए निष्प्रभावी
धन-संपत्ति के मोह से लालसा बढ़ती है संत की मदद से बदला शराबी का जीवन
विश्वासघाती का कभी न करें विश्वास मोह से नहीं मिली मुक्ति
युवाओं को बताया सेवा का महत्त्व नजरिया बदलकर मिला नवजीवन
चतुराई से मिला अपना धन मन में जीत की लगन
नहीं झुका मराठा सेनापति देश के प्रति बलिदान का उल्लास
वरीयता दी संस्कार की